अनुमति जरूरी है

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

रविवार, 1 जनवरी 2012

जो तुमने छुआ मन मेरा





१)

मैं बन के कली खिल गयी

बिन सिंगार संवर गयी

जो तुमने छुआ मन मेरा

मै मेघ मल्हार बन गयी

२)

कभी रंग मेरा निखर गया

कभी रूप मेरा बदल गया

जो तुमने छुआ मन मेरा

आईना भी सिहर उठा



ये धूप का रंग उड़ गया

जो रूप पर मेरे चढ़ गया

जो तुमने छुआ मन मेरा

इन्द्रधनुष बिखर गया 


३)

तब प्रीत का सिन्दूर लगा लिया

माँग में अपनी सजा लिया

जो तुमने छुआ मन मेरा

दुल्हन सा ये खिल उठा 




4)

कभी आधारशिला बन गया

कभी नव पल्लव सा खिल गया

जो तुमने छुआ मन मेरा

हरसिंगार सा खिल गया


5)


कभी ओस सा झर गया

कभी मुख प्रदीप्त कर गया

जो तुमने छुआ मन मेरा

सांझ को भी सुबह कर गया


6)


कभी बसंत कहीं खिल गया

कभी सावन कहीं बरस गया

जो तुमने छुआ मन मेरा

आस का हर बीज उपज गया 


7)


कभी सितार सा बज उठा

कभी गीत नया बन गया

जो तुमने छुआ मन मेरा

इक राग दरबारी बन गया


8)


कभी गीता  के श्लोकों सा 

कभी कुरान की आयतों सा 

जो तुमने छुआ मन मेरा

मानस की चौपाई सा सज गया 


9)


मैं वेगवती नदी बन गयी

जो सागर का  तट मिला 

जो तुमने छुआ मन मेरा

कश्ती को किनारा मिल गया 




10)

कभी बंसी सा बज गया

कभी राधा चरण सा लिपट गया

जो तुमने छुआ मन मेरा

माखन चोर सा बन गया 


11)

जो नज़र से छुआ तूने

चाँदनी भी छिटक गयी

जो तुमने छुआ मन मेरा

वो रास्ता भी भटक गयी 


12)

कभी दिल की किताब बन गयी

कभी नज़रों का ख्वाब बन गयी

जो तुमने छुआ मन मेरा

मैं आफ़ताब बन गयी 


13)






प्रेम का वो रंग चढ़ा

रोम - रोम में उतर गया

जो तुमने छुआ मन मेरा

राधा कृष्ण सा बन गया 

35 टिप्‍पणियां:

संध्या शर्मा ने कहा…

प्रेम का वो रंग चढ़ा
रोम - रोम में उतर गया
जो तुमने छुआ मन मेरा
राधा कृष्ण सा बन गया

बड़ा पक्का है, प्रीत का रंग एक बार चढ़ गया तो बस चढ़ गया...
सुन्दर.... आपको और आपके परिवार को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं

डॉ टी एस दराल ने कहा…

बहुत सुन्दर कविता ।
नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें ।

Kunwar Kusumesh ने कहा…

नववर्ष की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ.

संजय भास्कर ने कहा…

नव वर्ष पर सार्थक रचना
नववर्ष की आपको बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ.

शुभकामनओं के साथ
संजय भास्कर
http://sanjaybhaskar.blogspot.com

Rakesh Kumar ने कहा…

राधा कृष्ण,माखन चोर आपके मन
को शत शत प्रणाम मेरा.

आपकी वंदना करना तो अब बनता है जी.

Deepak Saini ने कहा…

आपको और परिवारजनों को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बड़ा ही प्रभावशाली स्पर्श

कुमार राधारमण ने कहा…

प्रेम जब भी घटित होता है,इसी रूप में होता है.

रश्मि प्रभा... ने कहा…

शब्दों ने बताया विभिन्न रूपों को - अद्वैत है सबकुछ ,
नया वर्ष प्रभु के आशीर्वचनों से परिपूर्ण हो ...

dheerendra ने कहा…

प्रभाव शाली सुंदर रचना मनमोहक अभिव्यक्ति ,.....
नया साल "2012" सुखद एवं मंगलमय हो,....

नई पोस्ट --"नये साल की खुशी मनाएं"--

kshama ने कहा…

Bahut,bahut sundar rachana!
Naya saal bahut mubarak ho!

प्रेम सरोवर ने कहा…

प्रस्तुति अच्छी लगी । मेरे नए पोस्ट पर आप आमंत्रित हैं । नव वर्ष की अशेष शुभकामनाएं । धन्यवाद ।

प्रेम सरोवर ने कहा…

प्रस्तुति अच्छी लगी । मेरे नए पोस्ट पर आप आमंत्रित हैं । नव वर्ष की अशेष शुभकामनाएं । धन्यवाद ।

Sanju ने कहा…

नववर्ष मंगलमय हो।

वाणी गीत ने कहा…

जो तुमने छुआ मन मेरा ...
इन्द्रधनुषी रूप और हरसिंगार मन ने प्रेम का राग जाने किस साज पर बजाया जो वसंत और सावन को फीका कर गया !

Reena Maurya ने कहा…

bahut sundar...
happy new year to you and your family....

Amrita Tanmay ने कहा…

सुन्दर रचना.. हर क्षण मंगलमय हो..

Prakash Jain ने कहा…

wah, Prem ka sparsh kayam rahe...

Kalam ka aapka jaadoo kayam rahe...

Behtareen...

www.poeticprakash.com

Ashok Bajaj ने कहा…

आपको नव-वर्ष 2012 की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं !

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

आप को सपरिवार नव वर्ष 2012 की ढेरों शुभकामनाएं.

इस रिश्ते को यूँ ही बनाए रखना,
दिल मे यादो क चिराग जलाए रखना,
बहुत प्यारा सफ़र रहा 2011 का,
अपना साथ 2012 मे भी इस तहरे बनाए रखना,
!! नया साल मुबारक !!

आप को सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया, आज का आगरा और एक्टिवे लाइफ, एक ब्लॉग सबका ब्लॉग परिवार की तरफ से नया साल मुबारक हो ॥


सादर
आपका सवाई सिंह राजपुरोहित
एक ब्लॉग सबका

आज का आगरा

vidya ने कहा…

बहुत सुन्दर रचना.....
नव वर्ष मंगलमय हो...

दर्शन कौर ने कहा…

प्रेम का वो रंग चढ़ा
रोम - रोम में उतर गया
जो तुमने छुआ मन मेरा
राधा कृष्ण सा बन गया.......

prem ki anokhi kraty...happy new year .

himkar ने कहा…

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें. छलके सुख, समृद्धि का मंगलघट. आये जीवन में आपके हर्ष, उल्लास और खुशियाँ अपार.
सादर,
हिमकर

ASHA BISHT ने कहा…

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं..khubsurat bhawnaayen

सदा ने कहा…

प्रेम का वो रंग चढ़ा
रोम - रोम में उतर गया
जो तुमने छुआ मन मेरा
राधा कृष्ण सा बन गया
भावनाओं का अनूठा संगम ...नववर्ष की अनंत शुभकामनाएं ।

lokendra singh ने कहा…

बेहतरीन.... नववर्ष की ढेर सारी शुभकामनाएं

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') ने कहा…

बहुत सुन्दर.... सादर बधाई और नूतन वर्ष की सादर शुभकामनाएं

Maheshwari kaneri ने कहा…

बहुत अच्छी भावमयी रचना .. नव वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएं

Urmi ने कहा…

आपको एवं आपके परिवार के सभी सदस्य को नये साल की ढेर सारी शुभकामनायें !
बहुत सुन्दर कविता ।

दिगम्बर नासवा ने कहा…

प्रेम का रंग तो ऐसे ही चड़ता है ... राधा करिश हो जाते हैं ...
आपको नव वर्ष की मंगल कामनाएं ...

PRAN SHARMA ने कहा…

PYAR KE RANG MEIN RACHEE - BASEE
SABHEE KSHANIKAAYEN ACHCHHEE LAGEE
HAI .

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

आपको नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें ।अति सुन्दर रचना.....

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

आपको नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं.अति सुन्दर रचना.....

NISHA MAHARANA ने कहा…

gazab ki prastuti no words to say vandana jee.thanks.

Onkar ने कहा…

bahut sundar abhivyakti