अनुमति जरूरी है

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

रविवार, 27 मई 2012

डायलाग तो डायलाग ही था……कमाल तो होना ही था


डायलाग कार्यक्रम की एक झलक

फ़ेसबुक पर मिले दोस्त कुछ ब्लोगजगत के तो कुछ नये मगर लगा ही 

नही पहली बार मिले हों ………एक मित्रवत माहौल यूँ लगा अपने ही घर 

मे आये हों ..........सुशीला पुरी जी, अमितेश जैन , अवनीश सिंह

 , जितेन्द्रकुमार पाण्डेय जी, आनन्द द्विवेदी जी, त्रिपुरारि कुमार शर्मा ,

राजीव तनेजा जी, कितने तो ब्लोगजगत के दोस्त मिल गये उनके 

अलावा फ़ेसबुक के दोस्तों से रु-ब-रु होने का मौका मिला जिसने माहौल

 को खूबसूरत बना दिया


 दोस्ताना माहौल मे



 मिथिलेश जी ओम थानवी जी के साथ


 नवोदित कवि काव्य पाठ करते हुये


 मस्तमौला ने मस्ती ला दी सारे प्रांगण मे बहार ला दी


 ओम थानवी जी अपनी पुस्तक मोहनजोदडो के अंश पढते हुये


 नंद भारद्वाज जी काव्य पाठ करते हुये


 मिले कुछ नये पुराने दोस्त


 हम भी हैं शामिल इस आलम मे



प्रसिद्ध कवि नंद भारद्वाज जी, मिथिलेश जी ,अंजू शर्मा जी




प्रसिद्ध कवि नंद भारद्वाज जी, मिथिलेश जी ,अंजू शर्मा जी



नंद जी तल्लीनता से नवोदित कवियों पर राय लिखते हुये


नवोदित कवि काव्य पाठ करते हुये



राजीव तनेजा जी अपने अन्दाज़ मे


ओम थानवी जी के साथ बाकी सभी


नवोदित कवि काव्य पाठ करते हुये


 ओम थानवी जी नंद भारद्वाज जी के साथ


नवोदित कवियों ने दिखाया दम खम 
बात उनमे भी कुछ नही है कम


 सबका है अन्दाज़ जुदा
ये प्रेरणा ने बतलाया



 ध्यानपूर्वक सुनते हुये


अनौपचारिक वातावरण और युवाओं का जोश बुलन्दी पर


हाय रे !कूकर विदेशी क्यों ना भया 
प्रभु तुमने ये क्या किया



 ये है त्रिपुरारि कुमार शर्मा जिसे सब जानते हैं



 दोस्तों के साथ


 इतनी बडी हस्ती के साथ मुझ अदना को मिलना परम सौभाग्य


ये हैं वो नंद भारद्वाज जिनके साथ मेरी कवितायें भी "स्त्री होकर सवाल करती है" पुस्तक मे छपीं ………इससे बढकर और क्या होगा …… और सबसे बडी बात उन्होने मुझे ऐसे पहचाना जैसे कब से जानते हों एकदम बोले ……आप वन्दना गुप्ता हो ना ………उफ़ ! मै तो कभी सपने मे भी नही सोच सकती थी कि इतनी बडी हस्ती मुझे पहचान लेगी ………ह्रदय भाव विह्वल हो गया …………बस इन्हीं लफ़्ज़ों के साथ कल वहाँ जाना सार्थक हो गया ……इसीलिये कहती हूँ जो मेरे साथ हुआ………डायलाग तो डायलाग ही था……कमाल तो होना ही था

32 टिप्‍पणियां:

expression ने कहा…

आपकी खुशियों में हमें भी शरीक समझिए वंदना जी.....
बहुत बहुत बधाई....और अनंत शुभकामनाएँ सुंदर,सफल भविष्य के लिए.
सस्नेह
अनु

Sanju ने कहा…

Very nice post.....
Aabhar!

mahendra verma ने कहा…

हमने भी सबसे भेंट-मुलाकात करली, चित्रों के जरिए।
सुंदर चित्रावली।

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

वाह ये हुई न बात ... फ़ोटो ही फ़ोटो

दिगम्बर नासवा ने कहा…

Vaah Ji Vaah ... Sabhi foto dekh ke maza aya .. Itna kamaal ka Milan ... Kya kahne ...

Suresh kumar ने कहा…

वन्दना जी इतनी बड़ी -बड़ी हस्तियों से मिलवाने का बहुत -बहुत धन्यवाद् .....

India Darpan ने कहा…

बहुत ही बेहतरीन और प्रशंसनीय प्रस्तुति....


हैल्थ इज वैल्थ
पर पधारेँ।

smshindi By Sonu ने कहा…

बहुत ही सुंदर प्रस्तुति

pran sharma ने कहा…

KHOOB ! BAHUT KHOOB !! POST KO DEKH
KAR AANAND AA GYA HAI .

pran sharma ने कहा…

KHOOB ! BAHUT KHOOB !! POST KO DEKH
KAR AANAND AA GYA HAI .

kshama ने कहा…

Kaash! Mai bhee aapke saath hoti!

Onkar ने कहा…

chitron se saji bahut badhiya report

shikha varshney ने कहा…

वाह बहुत बढ़िया रही रिपोर्ट. और आपके चेहरे से आपकी खुशी का अंदाजा सहज ही लग रहा है. हम भी खुश आपके साथ.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत बढ़िया!
पोस्ट शेयर करने के लिए आभार आपका...!

sushila ने कहा…

हम भी अभीभूत थे इस "डायलॉग" का हिस्सा बनकर और जिस तरह नंद भारद्वाज जी ने मुझे भी पूर्व-परिचित्त की तरह पहचाना वह खुशी की लहर दौड़ा गया।
आप भी जिस गर्मजोशी से मिलीं वह भी गदगद कर गया।
अंजु, राजीव जी, अमितेश सभी से मिलकर बहुत खुशी हुई!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

मिलने मिलाने का यही माहौल बना रहे।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

यह काव्य गोष्ठी कहाँ हुई ?
अच्छा लगा जानकर । बधाई ।

मुकेश पाण्डेय चन्दन ने कहा…

vandana जी , शुक्रिया आपकी पोस्ट के माध्यम से हम भी इसके हिस्सा बन गये ! सुन्दर प्रस्तुति करण

Ramakant Singh ने कहा…

आपकी खुशियाँ और उनका लेखा तस्वीरों के माध्यम से खूबसूरती से संगृहीत किया गया .बधाई .
आप इसी तरह खुश रहिये .कम शब्दों में चित्रों का साथ ...........

DR. ANWER JAMAL ने कहा…

Nice post.

अनामिका की सदायें ...... ने कहा…

ham bhi jane aapke maadhyam se. aabhar.

अजय कुमार झा ने कहा…

101….सुपर फ़ास्ट महाबुलेटिन एक्सप्रेस ..राईट टाईम पर आ रही है
एक डिब्बा आपका भी है देख सकते हैं इस टिप्पणी को क्लिक करें

dheerendra ने कहा…

चित्रों के जरिए अच्छी मुलाकात करली,सुंदर चित्रावली।

सुंदर प्रस्तुति,,,,,

RECENT POST ,,,,, काव्यान्जलि ,,,,, ऐ हवा महक ले आ,,,,,

दीपिका रानी ने कहा…

बढ़िया तस्वीरें...

रश्मि प्रभा... ने कहा…

ये तो कमाल होना ही था ....
सबसे मिलकर मज़ा आ गया

Rajesh Kumari ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ठ प्रविष्टि की चर्चा कल मंगल वार 29/5/12 को राजेश कुमारी द्वारा चर्चा मंच पर की जायेगी |

Pallavi ने कहा…

हमने भी सबसे भेंट-मुलाकात करली, चित्रों के जरिए।
सुंदर चित्रावली।

सदा ने कहा…

हमें भी शामिल करने का आभार ...

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

bahut bahut badhayi ...badhiya report.

मनोज कुमार ने कहा…

जानकर अच्छा लगा।

Reena Maurya ने कहा…

आपकी मुस्कुराती हुई तस्वीर आपकी ख़ुशी बयान कर रही है...
ढेर सारी शुभकामनाये :-)

सुखदरशन सेखों (दरशन दरवेश) ने कहा…

ऐसा लगा के मैं खुद भी इसमें शामिल था.