अनुमति जरूरी है

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

बुधवार, 24 अप्रैल 2013

गलती से एक नज़र इधर भी करिये :)

आदर्श नगर अपने क्षेत्र में पहली बार कविता पाठ करने का मौका मिला जिसका भी अपना ही मज़ा है…………21-4-2013 को  स्वामी विवेकानन्द की 150 वीं पुण्यतिथि और नव संवत्सर पर आयोजित कार्यक्रम में प्रसिद्ध मंचीय कवियों में कवि विनय विनम्र , महेन्द्र शर्मा, अनिल रघुवंशी , बलजीत कौर तन्हा , रसिक , सत्यवान आदि  के साथ मंच साझा करने का अपना ही अनुभव रहा जिसे बयान करना मुश्किल है …………राजीव तनेजा जी की शुक्रगुजार हूँ जो उन्होने इस कार्यक्रम का विडियो बनाकर यू-ट्यूब पर डाल दिया उनके साथ बलजीत जी ने भी हमारी हौसला अफ़ज़ाई की और यहाँ आकर मान बढाया ।



गर आप सुनना चाहते हैं तो इस लिंक पर सुन सकते हैं 

https://www.youtube.com/watch?v=hZcMlW9bbAA


https://www.youtube.com/watch?feature=player_detailpage&v=hZcMlW9bbAA



अजब बात रही सुबह एन डी टीवी के एक कार्यक्रम "हम लोग " में जाना हुआ और शाम को अपने क्षेत्र में ………सुबह का कार्यक्रम भी यहाँ उपलब्ध है :


http://www.ndtv.com/video/player/hum-log/video-story/272092


27 टिप्‍पणियां:

डॉ टी एस दराल ने कहा…

वाह वाह ! बधाई। इस तरह के सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेते रहने से जिंदगी प्यारी लगने लगती है।

expression ने कहा…

गलती से क्यूँ भई...बड़ी ख़ुशी से नज़र डाली है..वो भी एक नज़र नहीं भरपूर नज़र...
:-)
बहुत बहुत बधाई वंदना...
यूँ ही छाई रहो...

सस्नेह
अनु

DR. PAWAN K. MISHRA ने कहा…

बहुत बधाई राजीव जी को भी. ऐसे ही कार्यक्रम चलते रहे. समाज को सार्थक दिशा मिले

दिगम्बर नासवा ने कहा…

बधाई ... सच कहा है डाक्टर साहब ने .. ऐसी कार्यक्रम जीवन में उत्साह पैदा करते रहते हैं .. ओर जीवन प्यारा लगता है ...

कालीपद प्रसाद ने कहा…

गलती से तो नहीं ,जानबूझ कर नजर डाली परन्तु समझमे नहीं आया कि हमारी नजर लग गई थी या विडियो रिसेप्शन ख़राब था .आवाज एवं छवि दोनों अस्पष्ट थे . =लेकिन आपको बधाई

India Darpan ने कहा…

बहुत ही शानदार और सराहनीय प्रस्तुति....
बधाई

इंडिया दर्पण
पर भी पधारेँ।

Kailash Sharma ने कहा…

वाह! बहुत बहुत बधाई!

shikha varshney ने कहा…

हमने तो हंसी ख़ुशी नजर डाली है:)
चलिए अब बधाई का टोकरा भी ले लीजिये जल्दी से :)

Sushil Bakliwal ने कहा…

अपने ज्ञान व कला को विस्तार देने वाले इन महत्वपूर्ण अवसरों में शिरकत हेतु हार्दिक बधाईयां...

vandana gupta ने कहा…

@कालीपद प्रसाद जी हमारे यहाँ तो साफ़ दिखाई और सुनाई दे रहा है ।

vibha rani Shrivastava ने कहा…

बहुतबहुत बधाई .....
और ढेरों शुभकामनायें ......

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

वाह वाह .... बहुत बहुत बधाई ।

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

गलती से नही बल्कि जानबूझकर आये हैं.:)

बहुत ही सुंदर और उम्दा कार्यक्रम, शुभकामनाएं.

रामराम.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

सशक्त पर सहज उपस्थिति..

दिलबाग विर्क ने कहा…

आपकी यह प्रस्तुति कल के चर्चा मंच पर है
कृपया पधारें

ब्लॉग बुलेटिन ने कहा…

आज की ब्लॉग बुलेटिन गुरु और चेला.. ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

तुषार राज रस्तोगी ने कहा…

वाह! बहुत खूब | बधाई |

कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
Tamasha-E-Zindagi
Tamashaezindagi FB Page

वाणी गीत ने कहा…

ख़ुशी से ही देखेंगे जी और बधाई भी देंगे !
बहुत शुभकामनायें !

कुशवंश ने कहा…

बहुत बहुत बधाई,शुभकामनायें

सरिता भाटिया ने कहा…

बहुत बढ़िया बधाई

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

वाह जी बल्‍ले बल्‍ले

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

ek din me do jagah sahaj upasthiti...:)
badhai..
aise hi aage badhen..

Vyas Nepali ने कहा…

वाह

Manav Mehta 'मन' ने कहा…

waah ..bahut badhai

Manav Mehta 'मन' ने कहा…

waah ..badhai..

Onkar ने कहा…

बधाई

रचना दीक्षित ने कहा…

अरे वाह क्या बात है वंदना जी. बहुत बधाई.