अनुमति जरूरी है

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

रविवार, 5 अगस्त 2012

गूगल के नाम पर गोरखधंधा

एक फ़ोन आता है मैं महिंद्रा सत्यम से बोल रहा हूँ आपका टेलीफोनिक इंटरव्यू है और इंटरव्यू लेने वाला बात करके कहता है १-२ दिन में आपसे हमारी HR बात करेंगी.२-३ दिन बाद HR का फ़ोन आता है कहती हैं आप सेलेक्ट हो गयी हैं और आपका इंटरव्यू है सारी डिटेल्स के लिए मेल भेज रही हूँ आपको सारी सूचनाएं उसमे मिल जाएँगी . मेल चेक करते हैं तो उसमे लिखा होता है कि तुम्हारा इंटरव्यू गूगल के साथ है . अब सोचने वाली बात ये हुई कि कहीं एप्लाई नहीं किया सिर्फ कुछ नौकरी वाली साइट्स पर अपना रिज्यूमे डाला हुआ है तो गूगल ने कैसे बुला लिया ? आश्चर्य में डूबे सभी अपनी -अपनी तैयारियों के साथ पहुँच गए गुडगाँव ........डी एल एफ़  फेस टू  में गूगल के ऑफिस के ख्वाब बुनते हुए कि हो सकता है हमारी लाटरी निकल आई हो जैसे ही छठी मंजिल पर पहुंचे तो कहीं गूगल का ऑफिस दिखाई नहीं दिया. दिख रहा था तो सिर्फ एक ऑफिस ........SERCO का . अब असमंजस में पड़ गए कि कहीं गलत तो नहीं आ गए मगर देखा वहाँ और कोई ऑफिस तो है नहीं चलो इसी में जाकर पूछा जाये कि कहाँ है गूगल का ऑफिस . अन्दर जाने पर जब पूछा कि हम गूगल के इंटरव्यू के लिए आये हैं तो वो बोले कि यहीं है . एकदम  शाक्ड  हो गए कि ये क्या माजरा है ...........
फ़ोन आता है...... महिंद्रा सत्यम की एच आर  का
 मेल आती है .....गूगल के साथ इंटरव्यू की
और जब पहुँचते हैं वहाँ तो

ऑफिस मिलता है ........SERCO का

फिर भी बैठ गए वहाँ जाकर क्योंकि देखा काफी बच्चे बैठे हैं . बुलाने का टाइम ११ बजे और कहा गया इंटरव्यू होगा १२ बजे . चलो कोई बात नहीं इतना भी झेल लेंगे मगर बैठे- बैठे १ बज गया उसके बाद बुलावा आया . ८-९ बच्चे अन्दर चले गए और लगभग २० मिनट बाद आये कि उन्होंने अभी तो ग्रुप डिस्कशन किया है उसके बाद टेस्ट लेंगे और उसके बादइंटरव्यू होगा तब तक खा पी लो . मुश्किल से आधा घंटा नहीं बीता कि एक लड़की आकर कहती है कि जिनके नाम ले रही हूँ वो मेरे साथ आ जायें और बाकी चले जायें. तो जिन्हें सेलेक्ट किया गया वो उसके साथ चले गए बाकी अपने घर.

अब आते हैं मेन कहानी पर ..........इस इंटरव्यू के लिए जो बच्चे आये थे वो कहाँ- कहाँ से आये थे. कोई तो जम्मू कश्मीर से, तो कोई केरल से तो कोई यू पी से . यहाँ तक कि एक लड़की जो यू पी से आई थी उसे csc कंपनी से जॉब ऑफर आ गयी थी और पूछा गया था कि आप कल से ज्वाइन कर रही हैं तो उसने मना कर दिया क्योंकि गूगल का ऑफर आया था . हम तो ये सब देखकर वापस आ गए क्योंकि हमारा बच्चा सेलेक्ट नहीं हुआ था.घर आने के बाद जानना चाहा कि आखिर माजरा क्या था क्योंकि उन्होंने अपनी पहली priority बताई थी कि उन्हें वो कैन्डीडेट चाहिए जिसे linux या unix आती हो और गुड कम्युनिकेशन स्किल हो ।यहाँ तक कि इस इंटरव्यू के लिए इलेक्ट्रिकल के कैन्डीडेट को भी बुलाया गया था . हमारे बच्चे को आती थी linux क्योंकि उसने उसमे सर्टिफ़िकेशन की हुई थी मगर उसे तो पहले राउंड  में ही बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था. चलो कोई बात नहीं ये सब चलता रहता है ये सोच हम आ गए मगर आकर पता लगाया और गूगल का जो मेन ऑफिस उसी बिल्डिंग के  आठवें माले पर था वहाँ से हमारे किसी जानकार ने पता लगाया तो पता चला कि गूगल ने तो ऐसे कोई इंटरव्यू रखा ही नहीं  और छठे माले पर जो ऑफिस है SERCO का वो एक BPO कंपनी  है .


ये बेहद हैरतंगेज बात लगी कि काल कहीं से आती है , बुलाया किसी और कंपनी के नाम से जाता है और कंपनी तीसरी निकलती है .........क्या काल सैन्टर्स का ये तरीका सही है लोगों को गुमराह करने का ? एक नामी प्रसिद्द कंपनी के नाम का उपयोग करके सबको धोखा देना कहाँ तक जायज है? मैं तो उस लड़की के बारे में सोच रही हूँ जो अपनी csc में लगी जॉब छोड़कर आई सिर्फ इसलिए कि गूगल से ऑफर आया है और बाद में जब उसे पता चला होगा कि ये बी पी ओ  है तो उसपर क्या गुजरी होगी ? या जो केरल से गूगल का नाम सुनकर आये और पता चला कि यहाँ तो नाम के आधार पर धोखाधड़ी की जा रही है उन पर क्या गुजरी होगी? बेशक हम तो यहीं के थे तो ज्यादा फर्क नहीं पड़ा मगर उन लोगों का क्या होता होगा जो इस गोरखधंधे में फँस जाते होंगे और अपने अच्छे -भले करियर से भी हाथ धो बैठते होंगे ? क्या इन कंपनियों पर लगाम कसनी जरूरी नहीं है ?


साथ में उस मेल के डिटेल्स लगा रही हूँ ताकि आगे कोई गुमराह ना हो ..........कम से कम हमारा इतना तो नैतिक कर्त्तव्य बनता ही है कि अगर हमने धोखा खाया है तो दूसरे ना खाएं और समय रहते चेत जाएँ . किसी भी कंपनी में जाने से पहले उसके बारे में सारी जानकारी ले लें फिर चाहे नामी गिरामी कंपनी से ही क्यों ना ऑफर आया हो क्योंकि आजकल ये मकडजाल काफी फैले हुए हैं और इनसे बचने के लिए हमें ही सचेत रहना होगा.


साथ ही चाहूंगी कि यदि गूगल तक ये बात पहुंचे तो वो भी इस तरफ ध्यान दे कि उसका नाम लेकर कैसे धोखाधड़ी की जा रही है ।


ये है वो मेल ……………


---------- Forwarded message ----------
From: Aparna Jagityal <APARNA_JAGITYAL@mahindrasatyambsg.com>
Date: Thu, Aug 2, 2012 at 2:00 PM
Subject: Interview with Google
To:


Hi,
 
We are glad to inform you that your profile is shortlisted for a requirement in Google for SCPO ( Scaled content partner operations ). You are requested to come for a face to face discussion on Friday at 11.30PM at the address mentioned below.

Contact Person: Ashish Mahapatra
Reporting time: 11:00 AM
Address: Google Gurgaon, 6th floor
Tower B – Building 8
(Area – DLF cyber city phase II)

Please plan to be here by 11.00 am so that we can complete your access formalities before the scheduled time. Please carry a copy of your updated resume.
Please contact Aparna (phone number) in case of any queries and we hope that you will have a good candidate experience with us.
 


Regards,

Aparna
Human Resources - TAG
Mahindra Satyam BSG 




29 टिप्‍पणियां:

Vivek Rastogi ने कहा…

ये तो वाकई बुरा हुआ, परंतु यह आप सबके लिये एक सबक भी है, हम तो ऐसे ईमेल एक नजर में पहचान जाते हैं, और कई बार तो फ़ोन लगाकर अच्छे से उनका इंटर्व्य़ू ले डालते हैं, मैं ऐसे कई ईमेलों को देख चुका हूँ, पर गलती तो उन अभ्यर्थियों की है जो इनको इंटर्व्यू देने पहुँच भी जाते हैं, अब आपके ईमेल में ही देख लें कि जिस ईमेल आईडी से ईमेल आया है वह नकली है, जैसे कि उसका डोमेन, उन्होंने महिन्द्रा सत्यम का नाम उपयोग किया परंतु उनके डोमेन से ईमेल नहीं आया। हमें भी थोड़ी सावधानी बरतने की जरूरत है।

वन्दना ने कहा…

@विवेक जी हमे तो ये पता ही नही था कैसे देखते हैं और दूसरी बात इसी तरह हमेशा मेल आते हैं तो सोचा शायद जहाँ रिज्यूमे डाला है वहीं से उन्होने लिया होगा और बुलाया होगा और सबसे बडी बात थी गूगल का नाम ………उसे आसानी से इग्नोर भी नही कर सकते थे और थोडे असमंजस मे भी थे कि आखिर महिन्द्रा सत्यम से काल आई और इन्टरव्यू गूगल से है तो उसके लिये भी मन को समझा लिया शायद दोनो कम्पनियों का कुछ लिंक हो या दोनो की एच आर एक ही हो ………इसीलिये चले गये ……फ़िलहाल हमारा तो कुछ नही बिगडा मगर दुख उन लोगों के लिये हुआ जो इतनी दूर दूर से आये या जिन्होने गूगल के नाम के चक्कर मे अपने कैरियर से समझौता कर लिया ………और ऐसे बच्चो को ही सचेत करने के लिये ये सब लिखा है

वन्दना ने कहा…

@ vivek rastogi ji क्या यही है उसका डोमेन जो मै लगा रही हूँ क्योंकि इसी आई डी से आया था मेल
APARNA_JAGITYAL@mahindrasatyambsg.com

और कैसे चैक करते हैं कृपया बतायें ताकि आगे से हम सावधान हो जायें।

Vivek Rastogi ने कहा…

mahindrasatyambsg.com के नाम से कोई साईट ही नहीं है, देखिये कोई साईट नहीं खुलेगी। अगर ऐसी कोई भी मेल आती है तो पहले उसका डोमेन नाम देकर उस कंपनी का प्रोफ़ाईल देखना चाहिये, महिन्द्रा सत्यम जैसी बड़ी कंपनी का अगर ईमेल आता है तो आप अवश्य ही उसकी वेबसाईट खुली पायेंगी उस डोमेन नाम से।

और फ़ोन नंबर अगर दे रखा हो तो हमेशा फ़ोन जरूर करें, फ़ोन लगाने में कोई बुराई नहीं है। सावधानी आवश्यक है ।

http://www.google.com/about/jobs/search/#q=&r=asia-pacific&l=hyderabad वैसे गूगल की ऑफ़िशियल जॉब साईट यह है, और गूगल कभी भी किसी एजेन्सी से रिक्रूटमेंट नहीं करता है ।

वन्दना ने कहा…

@ vivek rastogi jiवहां तो सिर्फ़ एच आर का ही फोन नम्बर दिया हुआ था.विवेक जी फोन तो उस एच आर का ही आया था तो लगाते भी तो उसी से बात होती इसलिये लगाया नही.

जी आपकी शुक्रगुजार हूँ जो आप इतनी सूचनायें दे रहे हैं

India Darpan ने कहा…

बहुत ही शानदार और सराहनीय प्रस्तुति....
बधाई

इंडिया दर्पण
पर भी पधारेँ।

रचना ने कहा…

requirement in Google for SCPO ( Scaled content partner operations ).

aaap ne yae nahin daekhaa thaa kyaa

jarurat haen google kae kaam kae liyae unkae partner ko

mail me sab saaf haen
yae koi fraud nahin haen

aur isii prakaar sae maruti udyog kae un partner ki bhi mail aatii haen
jo maruti kae liyae kal purjae banaatae haen

bpo ityadi mae kaam badii kampni kaa hotaa hae
aur unki mail bhi yahi keh rahii haen

वन्दना ने कहा…

@रचना जी जब गूगल पर सर्च किया तो इस पोस्ट SCPO ( Scaled content partner operations )के बारे मे कोई जानकारी नही मिली और सभी पार्टिसिपेंट्स ने ढूंढा मगर ठीक से कोई जानकारी नही मिली इस पोस्ट के बारे मे …………ना ही ये पता चला कि ये बी पी ओ के काम के लिये होती है यदि पता चलता तो लोग इतनी दूर से आते ही क्यों?

राजेश उत्‍साही ने कहा…

मै भी रचना जी से सहमत हूं।
*
वास्‍तव में नीचे तीन कम्‍पनियों के नाम दिए हैं,जिनके लिए यह समूह काम करता होगा। पर हां इतना तो है कि उन्‍होंने पत्र में गूगल के साथ इंटरव्‍यू शब्‍द का उपयोग किया है,जो भरमाता है।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

गूगल में साफ-साफ लिखा होता है कि हो सकता है यह मेल इनके द्वार न भेजी गई हो!
--
✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮
~~♥ मित्रतादिवस की शुभकामनाएँ ! ♥~~
✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮
________/)______./¯"""/')
¯¯¯¯¯¯¯¯¯\)¯¯¯¯¯'\_„„„„\)

Ramakant Singh ने कहा…

ये धोखा तो तब तक चलता रहेगा जब तक कोई सख्त कानून बने और हमारी सजगता भी ज़रूरी है ...

expression ने कहा…

बहुत गोरखधंधा फैला है यहाँ.....
किसी पर यकीन करने के पहले अच्छी तरह ठोंक बजा लें....
बहुत बढ़िया पोस्ट..
आभार आपका वंदना इस चेतावनी के लिए.
अनु

kshama ने कहा…

Aisi mails aatee rahtee hai aur mai anaam ID dekh detete kar detee hun. Phn bhee disconnect kar dettee hun.Rachana ji kya kah rahee hain,ye to mai nahee samajhee.

रचना दीक्षित ने कहा…

यह विवरण साझा करने के लिये. सचमुच चिन्ताजनक है.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

यह गोरख धंधा खोल रखा है, जाँच पड़ताल कर आना चाहिये था...

रचना ने कहा…

VANDANA JI



mujhae nahin pataa aap ne kyaa search kiyaa
https://www.google.co.in/search?q=Scaled+content+partner+operations&ie=utf-8&oe=utf-8&aq=t&rls=org.mozilla:en-US:official&client=firefox-a
yae search kar daekhiyae kitni information haen

phir manae yae link khola

http://www.google.com/about/jobs/locations/mountain-view/partnerships/partner-manager-partner-operations-digital-content-mountain-view.html

neechae google kaa disclaimer dikh rahaa haen

jo mail aap ko aaii haen wo apni jagah theek haen kyuki yae aaj kal yae sab bahut aam haen

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

सावधानी ज़रूरी है .... मुझे तो उन बच्चों का लग रहा है जो दूर दूर से आए थे ...

smt. Ajit Gupta ने कहा…

बड़ा अजीब गोरखधंधा है।

वन्दना ने कहा…

@रचना जी हम मे से तो किसी को ये लिंक मिले नही थे आपने उपलब्ध करवा दिये उसके लिये आभारी हूँ मगर मेरा कहना सिर्फ़ इतना है कि जब उन्होंने फोन पर बात की और मेल भेजी कहीं भी जिक्र नही किया कि ये सरको कम्पनी के लिये है जबकि सब उम्मीदवार सिर्फ़ इसीलिये गये क्योंकि गूगल के साथ इंटरव्यू लिखा था और ये किसी के लिये भी बहुत मायने रखता है। दूसरी बात उन्होने कहा कि उन्हे लिनक्स पर काम करने वाले चाहिये मगर ये जोब तो टैक्नीकल के लिये है जैसे हैल्प डैस्क की होती है या कहिये काल सैन्टर की वहाँ तो सिर्फ़ काल अटैन्ड करनी होती हैं अगर ये पहले ही बता दिया होता तो कम से कम उम्मीदवार को बात क्लियर तो हो जाती ना कि किसलिये बुला रहे हैं और वो अपना कीमती वक्त और नौकरी और पैसा आदि बर्बाद ना करते ………वैसे मेरी बेटी के पास रोज बी पी ओ की ना जाने कितनी मेल आती है मगर हर किसी मे साफ़ लिखा होता है कि वो बी पी ओ है मगर सिर्फ़ एक यही मेल इस तरह घुमा फ़िरा कर आयी तो लगा कि सबको इस बात का भी पता होना चाहिये कम से कम जिन लोगो ने कोई नुकसान उठाया लिया अब वैसा नुकसान दूसरे ना उठायें । मेरे ख्याल से सबके सामने ऐसी बातो को एक जागरुक नागरिक के नाते सभी को लाना चाहिये।

रचना ने कहा…

मेरे ख्याल से सबके सामने ऐसी बातो को एक जागरुक नागरिक के नाते सभी को लाना चाहिये।

bilkul sehmat hun
lekin is kae liyae bahut jaagruk rehnae ki zarurat haen aap ko yaad hogaa ki aap ne jab http://redrose-vandana.blogspot.in/2012/06/blog-post_15.html
yae post dii thee maene aap sae aagrh kiyaa thaa ki disclaimer dae ki yae hoax haen

aaj kal yae sab presume kar liyaa jataa haen ki agar aap net par saksham haen to aap ko net par ho rahii dhandlae baazi bhi pataa honi chaiyae

phir bhi log lottery , job ityadi ko laekar aayii mail sae bhramit hokar telephone interview kae samay kuchh puchhtae nahin haen yae soch kar ki kahin apna nuksaan naa ho jaaye

kabhie bhi net par aap kuchh naa khoj paayae to sampark kar lae jitna ho sakegaa mae madatt kar dungi

वन्दना ने कहा…

@रचना जी ठोकर खाकर ही इंसान सीखता है :) वैसे आपकी आभारी हूँ जो आपने बता दिया आगे ध्यान रखेंगे ।

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

नौकरी की तलाश में मैं एक बार फिर से हूँ लेकिन ऐसी मेल्स को बिना पढे डिलीट करता हूँ क्योंकि मेल्स पढ़ते पढ़ते इतना अनुभव तो हो ही गया है कि सबजेक्ट लाइन और सेंडर नेम देख कर पता लग जाता है कि यह स्पैम ही है।


सादर

सदा ने कहा…

जागरूक करती आपकी यह पोस्‍ट ... आभार

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

टिप्पणियों ने पोस्ट की पहेली सुलझा दी। हमको भी जानकारी मिली।..ब्लॉगिंग जिंदाबाद।

Rakesh Kumar ने कहा…

बहुत अच्छी पोल खोली है आपने.
आपके नेक काम के लिए दिल से
आभार.

कहीं यह कंपनी गूगल ने ही
अपनी छद्म एजेंट के रूप में नियुक्त
तो नही की हुई है.

गूगल को इसका स्पष्टीकरण करना
चाहिये.

kanu..... ने कहा…

post acchi hai ase log gorakhdhandha karte hain par ye bhi sach hai ki jo mail aapko aai hai use dekhkar pata chal raha hai ki wo bpo hai...khair 1,2 baar sabke sath hota hai ye....aapne accha lekh likha kuch log jagruk jarur honge

इमरान अंसारी ने कहा…

जागरूकता भारती ये पोस्ट प्रशंसनीय है......लोगों को ज़रूर मार्गदर्शन मिलेगा......जज़्बात पर कुदरत के नज़ारे भी देखें।

मनोज कुमार ने कहा…

सचेत करती रचना।

mohinder kumar ने कहा…

वन्दना जी,
गूगल और सरको दोनो ही नामी ग्रमी कम्पनीयाँ हैँ और इनसे धोके की उम्मीद नहीँ की जा सकती... ये तो किसी तीसरे की कारस्तानी लगती है जो इन दो जाने माने नामोँ को फायदा उठा रही है.
वैसे कम्पनी के डोमेन से आये मेल पर ही विश्वास करना चाहिये और पर्संल मेल की ठोक बजा कर जाँच कर लेनी चाहिये
सार्थक पोस्ट के लिये आभार