अनुमति जरूरी है

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

मंगलवार, 5 अप्रैल 2016

भूले बिसरे गीत

भूले बिसरे गीत हो गए हैं हम .......उसने कहा और मैं सोच में पड़ गयी

सच ही तो कहा

एक दिन सभी भूले बिसरे गीत बन जाने हैं

नहीं नहीं ये भी सत्य नहीं
गीत तो फिर भी कभी कोई गुनगुना ही लेगा
समय असमय
लेकिन हम
किसकी यादों की पालकी में जगह बनायेंगे
एक दिन निश्चित ही मिट जायेंगे

अमिट बनने के लिए जरूरी है
एक सम विषम का मध्यकाल बनना
जहाँ तुम्हारा होना एक अनिवार्य आवश्यकता हो ...

2 टिप्‍पणियां:

Onkar ने कहा…

सुन्दर रचना

Akhil ने कहा…

सुन्दर एवं भावपूर्ण रचना। बधाई स्वीकार करें।