अनुमति जरूरी है

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

बुधवार, 15 मई 2013

कभी देखा है कोई पीर फ़कीर दरवेश ऐसा …………

चाहती थी
नींद , ख्वाब
भंवरा, पपीहा
पीहू - पीहू
पी कहाँ ,पी कहाँ
सारे बोल गुनगुनाऊँ
मै भी जोगन बन जाऊँ
मै भी एक बार
मोहब्बत मे गुम हो जाऊँ
पर ज़रूरी तो नही ना

हर रस्म निभायी ही जाये
या हर ख्वाब सच हो ही जाये
ओ मेरे
अन्जान देश के अन्जान पंछी
मेरी आखिरी कसक का आखिरी सलाम लेता जा
देख ले आज तू भी
एक अन्दाज़ ये भी होता है जीने का
न ख्वाब मे ना हकीकत मे
कुछ हथेलियों पर मोहब्बत की लकीर ही नही होती
फिर भी
जो अन्जानों की इबादत करता हो ………

कभी देखा है कोई पीर फ़कीर दरवेश ऐसा …………

16 टिप्‍पणियां:

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

:) जो अनजानों की इबादत करे उससे बड़ा पीर कहाँ ?

alka sarwat ने कहा…

ऐसी साध्वी को मेरा प्रणाम.

डॉ शिखा कौशिक ''नूतन '' ने कहा…

.सार्थक भावनात्मक अभिव्यक्ति .आभार . हम हिंदी चिट्ठाकार हैं.

रचना दीक्षित ने कहा…

ख्वाब हकीकत में भी बदल जाते हैं. सुंदर भावपूर्ण प्रस्तुति.

madhu singh ने कहा…

sundar rachna मेरी आखिरी कसक का आखिरी सलाम लेता जा
देख ले आज तू भी
एक अन्दाज़ ये भी होता है जीने का
न ख्वाब मे ना हकीकत मे
कुछ हथेलियों पर मोहब्बत की लकीर ही नही होती
फिर भी
जो अन्जानों की इबादत करता हो ………

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

बहुत सही कहा आपने, शुभकामनाएं.

रामराम.

Ashok Khachar ने कहा…

waaaaah waaaah bhot umda waaaaah

शालिनी कौशिक ने कहा…

बहुत सुन्दर भावनात्मक अभिव्यक्ति .आभार . कायरता की ओर बढ़ रहा आदमी ..

Kailash Sharma ने कहा…

जो अन्जानों की इबादत करता हो ………

कभी देखा है कोई पीर फ़कीर दरवेश ऐसा …………

...वाह! बहुत सुन्दर प्रस्तुति...

दिगम्बर नासवा ने कहा…

जब मन से अपना लिया तो अंजाना कैसा रहा ...
अर्थपूर्ण रचना ...

Amrita Tanmay ने कहा…

सुन्दर कृति.

Neeraj Kumar ने कहा…

वाह बहुत ही सुन्दर भावों की शानदार अभिव्यक्ति.

Dr. Sarika Mukesh ने कहा…


देख ले आज तू भी
एक अन्दाज़ ये भी होता है जीने का
न ख्वाब मे ना हकीकत मे
कुछ हथेलियों पर मोहब्बत की लकीर ही नही होती
फिर भी
जो अन्जानों की इबादत करता हो ………

अनमोल पंक्तियाँ हैं ये...हार्दिक बधाई और मंगल कामनाएँ!!

सुमन कपूर 'मीत' ने कहा…

अति सुंदर

ARUN SATHI ने कहा…

sundar abhibyakti

Onkar ने कहा…

बहुत सुन्दर भाव